विलुप्त भाषा  : देवेश पथसारिया

विलुप्त भाषा : देवेश पथसारिया

    युवा कवि। ताइवान के शिनचू शहर में खगोल विज्ञान में पोस्ट डॉक्टोरल फेलो। क्या हुआ होगा उन भाषाओं काजिन्हें बोलने वाले लोगकरते गए पलायनऔर अपने नए ठिकाने परबोलने लगे नई स्थानीय भाषाछोड़ते गए अपनी मां बोली कोपिछड़ेपन की निशानी समझ कर छोड़ते रहने की इस...