रामविलास शर्मा की आलोचना-दृष्टि : गोपेश्वर सिंह

रामविलास शर्मा की आलोचना-दृष्टि : गोपेश्वर सिंह

    चर्चित आलोचक और शिक्षाविद।अद्यतन आलोचना पुस्तक – ‘आलोचना के परिसर’।दिल्ली विश्वविद्यालय के हिंदी विभाग के पूर्व प्रोफेसर और अध्यक्ष। सुनते हैं कि रूसी भाषा के महान लेखक लेव तोलस्तोय का संपूर्ण साहित्य 90 खंडों में प्रकाशित है।इधर चर्चा है कि...
नई कविता आंदोलन और नरेश मेहता : प्रस्तुति मधु सिंह

नई कविता आंदोलन और नरेश मेहता : प्रस्तुति मधु सिंह

प्रस्तुति : मधु सिंह विद्यासागर विश्वविद्यालय, मेदिनीपुर में एम.फिल. की शोध छात्रा। कोलकाता के खुदीराम बोस कॉलेज में शिक्षण। नई कविता में परंपरागत कविता से आगे नए भावबोध की अभिव्यक्ति के साथ ही नए मूल्यों और नए शिल्प विधानों का अन्वेषण किया गया है।भाव, विचार और भाषा...