तेंदुए  : हरजेंद्र चौधरी

तेंदुए : हरजेंद्र चौधरी

 वरष्ठि कवि।चार कविता-संग्रह और तीन कहानी-संग्रह के अलावा कुछ संपादित कृतियां। 1न भूख ने अपना रवैया बदलान ही हत्यारों नेपिछले जन्म मेंपुलिस ने गोली मार दी थीटिफिन चुराते जिन भूखे लोगों कोइस जन्म में वे तेंदुए बन गएवे अब भी भूखे हैंउन्हें अब भी गोली मारी जा रही...