पूर्वोत्तर की कविताएं-2 : खासी : स्ट्रीमलेड ड्खर

पूर्वोत्तर की कविताएं-2 : खासी : स्ट्रीमलेड ड्खर

स्ट्रीमलेट ड्खार (1960) खासी भाषा की प्रतिष्ठित कवयित्री, कथा लेखिका, नाट्यकार, आलोचक और विदुषी।नॉर्थ ईस्टर्न हिल यूनिवर्सिटी, शिलांग में खासी की प्रोफेसर।अनेक पुरस्कार-सम्मान प्राप्त।तीस से अधिक पुस्तकें प्रकाशित हैं। हिंदी अनुवाद : जीन एस. ड्खार (1979) बहुभाषी...