नाबो-अश्वेत व्यक्ति जिसने फरिश्तों से प्रतीक्षा करवाई : गैब्रिएल गार्सिया मार्केज़, अनुवाद : मंजुला वालिया

नाबो-अश्वेत व्यक्ति जिसने फरिश्तों से प्रतीक्षा करवाई : गैब्रिएल गार्सिया मार्केज़, अनुवाद : मंजुला वालिया

स्टेट बैंक ऑफ इंडिया सेस्वैच्छिक सेवानिवृत्ति। वर्तमान में NGO ‘संवेदना’ और CAGE से संबद्ध। गैब्रिएल गार्सिया मार्केज़ (1928-2014) नोबेल पुरस्कार से सम्मानित विश्व प्रसिद्ध लैटिन अमेरिकी कथाकार।प्रसिद्ध उपन्यास है ‘एकांत के सौ वर्ष’ (वन हंड्रेड इयर्स ऑफ...