उत्तर-कोरोना प्रभाव : समाज और संस्कृति / प्रस्तुति : विनोद कुमार यादव

उत्तर-कोरोना प्रभाव : समाज और संस्कृति / प्रस्तुति : विनोद कुमार यादव

प्रस्तुति : विनोद कुमार यादव शोध छात्र, विद्यासागर विश्वविद्यालय, मेदिनीपुर कोरोना ने पूरे विश्व को हिला दिया है। अब वैक्सिन आने के बावजूद उसका दूसरा आक्रमण सामने है। दुनिया में जिस एक मुद्दे पर हाल के दशकों में सबसे ज्यादा चर्चा हुई है, वह कोरोना से होनेवाली क्षति और...
दलित चेतना की नई मंजिलें : मधु सिंह

दलित चेतना की नई मंजिलें : मधु सिंह

प्रस्तुति : मधु सिंह विद्यासागर विश्वविद्यालय, मेदिनीपुर में एम.फिल. की शोध छात्रा। कोलकाता के खुदीराम बोस कॉलेज में शिक्षण। आधुनिक युग विमर्शों का युग है। इस काल में शिक्षा और विज्ञान की प्रगति ने लोकतांत्रिक मूल्यों को मजबूत किया है। फलस्वरूप साहित्य में...
बहस : नई शिक्षा – कैसा प्रस्थान चाहिए

बहस : नई शिक्षा – कैसा प्रस्थान चाहिए

प्रस्तुति : मनोज मोहन हिंदी के साहित्यिक-सांस्कृतिक दुनिया में निरंतर सक्रिय। वर्तमान में सीएसडीएस की पत्रिका ‘प्रतिमान : समय समाज संस्कृति’  के संपादकीय विभाग से संबद्ध। भारतीय शिक्षा की बात करें तो उसके तीन स्तर उभर कर आते है–स्कूली शिक्षा, उच्चशिक्षा और...
बहस : बच्चों की दुनिया का हाल

बहस : बच्चों की दुनिया का हाल

प्रस्तुति : प्रतिभा सिंह शोध छात्रा, विकास अध्ययन केंद्र, इलाहाबाद विश्वविद्यालय, प्रयागराज।   पिछले अंक में हमने एक बहस शुरू की थी कि तेज़ी से बदलती इस दुनिया में क्या है बच्चों की दुनिया का हाल? ज्ञान, मूल्य, संवेदना, शक्ति की अपेक्षा करते बचपन की ‘पोलिटीकल...