नीलेश रघुवंशी – स्त्री कविता का भूगोल : आशीष मिश्र

नीलेश रघुवंशी – स्त्री कविता का भूगोल : आशीष मिश्र

युवा आलोचक। और साहित्यिक-सांस्कृतिक रूप से निरंतर सक्रिय। नीलेश रघुवंशी का जन्म विदिसा के कस्बा‘गंज बासौदा’ में हुआ। बासौदा का इतिहास मालवा के पठारी भूगोल में बहुत गहरे धंसा हुआ है। नीलेश का आरंभिक भावबोध बासौदा के कस्बाई जीवन-अनुभवों में आकार लेता है। इसमें आठ बहनों,...
21वीं सदी कविता से संवाद-4 : विशेष कवि नीलेश रघुवंशी की कविताएं

21वीं सदी कविता से संवाद-4 : विशेष कवि नीलेश रघुवंशी की कविताएं

1969 में जन्म। बहुचर्चित कवि और लेखिका। ‘घर निकासी’, ‘पानी का स्वाद’, ‘अंतिम पंक्ति में’, ‘कवि ने कहा’ (चुनी हुई कविताएं), ‘खिड़की खुलने के बाद’  आदि कविता संग्रह। कविता और उपन्यास के अलावा उन्होंने बच्चों के लिए नाटक और कई टेलीफिल्मों के लिए पटकथा-लेखन भी किया। एक...