स्त्री स्वर-तमिल कविताएं : पेरुनदेवी, अनुवाद : राजेश कुमार झा

स्त्री स्वर-तमिल कविताएं : पेरुनदेवी, अनुवाद : राजेश कुमार झा

तमिल की महत्वपूर्ण कवयित्री।पिछले बीस वर्षों में आठ काव्य संकलन प्रकाशित।औरतों के खिलाफ होने वाली यौन हिंसा पर मुखर, सामाजिक विषयों पर कई लेख।फिलहाल न्यूयॉर्क में एसोशिएट प्रोफेसर हैं और अपना समय न्यूयॉर्क और चेन्नई में बिताती हैं। (मूल तमिल से अंग्रेजी में अनुवाद एन....