कविताएं प्रिया वर्मा

कविताएं प्रिया वर्मा

    युवा कवयित्री। विभिन्न पत्र-पत्रिकाओं में कविताएं प्रकाशित। सभा में सबकी जेबों में दुख थानमक के ढेले जैसाबारिश के मौसम के लिए बेताबकि बाहर बरसेभीतर से छीज कर त्वचा पर उभरेपहचान लिया जाएसभा में सभी के चेहरे की आब पर थाअलग-अलग तरह का दुखसबके लटके चेहरे...