शिल्पी जैन

शिल्पी जैन

    युवा कवयित्री। कई साहित्यिक पत्र-पत्रिकाओं में कविताएं प्रकशित। कविता संग्रह ‘स्त्री के सपनों में धंसा तीर’। दुख 1.मौसम की तरहआते हैंअदल -बदल कर जादू की झप्पी सेनहीं बदलतेसुख में लेकिनएक उम्मीद मेंबदल जाते हैं हमआधे-अधूरेकभी-कभी पूरी तरह। 2.दुखएक-एक ईंट...