कस्तूरी : सुनील गज्जाणी

कस्तूरी : सुनील गज्जाणी

पति मुस्कुराता हुआ अपने मोबाइल पर फटाफट उंगलियां दौड़ा रहा था! उसकी पत्नी उसके पास बैठी बहुत देर से खामोश देख रखी थी। यह रोज की बात थी। पत्नी जब भी कोई बात अपने पति से करती, उसका जवाब ‘हाँ’- ‘हूँ’ में ही होता। ‘किससे चैटिंग कर रहे हो?’ ‘फेसबुक फ्रेंड से’ ‘मिले हो कभी...