दर-ब-दर : ज़हीर कुरेशी

दर-ब-दर : ज़हीर कुरेशी

5अगस्त 1950को चन्देरी (म.प्र.) में जन्म। गजलकार के रूप में अधिक परिचित। कुल ग्यारह गजल संग्रह प्रकाशित। ‘एक टुकड़ा धूप’, ‘भीड़ में सबसे अलग, ‘पेड़ तनकर भी नहीं टूटा’ जैसे गजल संग्रह काफी चर्चित हुए। हाल ही में कोरोना से अकाल मृत्यु। 1 जून, 2020 से अनलॉक-1 घोषित हो...
गजल : जहीर कुरैशी

गजल : जहीर कुरैशी

      चर्चित हिंदी गजलकार। कुल ग्यारह गजल-संग्रह प्रकाशित। स्वप्न देखे, स्वप्न को साकार भी करते रहेलोग सपनों से निरंतर प्यार भी करते रहे!उसने जैसे ही छुआ तो देह की वीणा के तार,सिहरनों के रूप में झंकार भी करते रहे।अम्न के मुद्दे पे हर भाषण में ‘फोकस’ भी...