मेरे मन और कागज़ की भित्तियों पर दर्ज शब्द : एनी आर्नो

मेरे मन और कागज़ की भित्तियों पर दर्ज शब्द : एनी आर्नो

साल 2022 के नोबल साहित्य पुरस्कार से सम्मानित फ्रेंच लेखिका एनी आर्नो का जन्म नॉरमांडी के छोटे-से गांव इगतो में हुआ, जहां उनके माता-पिता एक परचून की दुकान और कैफे चलाते थे। उस छोटे-से गांव से साहित्य के नोबल तक का सफ़र बहुत उतार-चढ़ावों से भरा रहा, जिन्हें एनी अपनी...
मेरा शिकारीपन : हर्षदेव माधव

मेरा शिकारीपन : हर्षदेव माधव

    समकालिक संस्कृत कविता के सर्वाधिक प्रयोगशील कवि।३० काव्य संग्रह सहित कुल ४५ साहित्यिक कृतियाँ प्रकाशित।इनकी कई रचनाएँ हिंदी, अंग्रेजी, मलयालम, कन्नड़, तेलुगु, इटैलियन सहित अनेक भाषाओं में अनूदित। पत्नी फेंकती है शयन कक्ष में वध्य प्राणी की तरह अपना शरीर...
किताबें

किताबें

सभ्यता का संग्रहालय (क़विता संग्रह) – सरला माहेश्वरीसूर्य प्रकाशन मंदिर, बीकानेर – मूल्य – २५० रुपयेकविताओं में वर्तमान समय की राजनीति के कुत्सित यथार्थ का चित्रण है और न्याय के लिए संघर्ष करता जीवन झलकता है| एक बेचैनी और व्यग्रता को रचनात्मक आकार...
लड़कियों का हँसना : राकेश पाठक

लड़कियों का हँसना : राकेश पाठक

    ३२ वर्षों से पत्रकारिता में सक्रिय। पूर्व विभागाध्यक्ष, पत्रकारिता एवं जनसंचार विभाग, आईटीएम विश्वविद्यालय, ग्वालियर, मप्र. कविता संग्रह -‘बसंत के पहले दिन से पहले’ जगदीश प्रसाद चतुर्वेदी पत्रकारिता पुरस्कार से सम्मानित। लड़कियो हँसो और खूब हँसो...
दो सौ गज की दूरी : शैलेंद्र अस्थाना

दो सौ गज की दूरी : शैलेंद्र अस्थाना

    वरिष्ठ रचनाकार। ‘सवाल सिर्फ शब्द नहीं’ (काव्य संकलन) तथा ‘नूरनक्श का मकबरा’ (कहानी संकलन) प्रकाशित।संप्रति : भारत सरकार की सेवा से अवकाशोपरांत स्वतंत्र लेखन, उपाध्यक्ष जनवादी लेखक संघ, झारखंड। यह तब की बात है जब दो गज की दूरी वाला टकसाली मुहावरा लोगों के...