गांधी जयंती के अवसर पर नमन उस महात्मा को, जिन्होंने हमें शब्द और सत्य के आग्रह का मार्ग दिखाया.

रचना : सुमित्रानंदन पंत
आवृत्ति : आशीष तिवारी
दृश्य एवं ध्वनि संपादन : उपमा ऋचा
प्रस्तुति : वागर्थ, भारतीय भाषा परिषद कोलकाता.