आलेख
विस्मृति से एतराज : स्वयं प्रकाश की कहानियाँ/ बालमुकुंद नंदवाना

विस्मृति से एतराज : स्वयं प्रकाश की कहानियाँ/ बालमुकुंद नंदवाना

चर्चित अनुवादक, पुस्तक ‘हिंदू धर्म प्रवेशिका’ समकालीन हिंदी कहानी के प्रकाश स्तंभ स्वयं प्रकाश को विशिष्ट पहचान दिलाने वाले प्रमुख तत्व हैं – यथार्थ की उनकी गहरी समझ, उनका वैज्ञानिक दृष्टिकोण और रचनात्मक विवेक, सोद्देश्यता और शिल्प के प्रति उनकी सजगता। इन सभी तत्वों...

read more
नागार्जुन के गांधी/ सुमित कुमार चौधरी

नागार्जुन के गांधी/ सुमित कुमार चौधरी

भाषा केंद्र, जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय, नई दिल्ली में शोधार्थी   नागार्जुन की चरित्र-प्रधान कविताओं में दास्य-भाव न होकर तत्कालीन यथार्थ की अनुगूंज अधिक सुनाई देती है। इन कविताओं में वे सभी चरित्र शामिल हैं जो समावेशी तेवर के हिमायती और इसके विरोधी हैं।...

read more