तीन लघुकथा संग्रह। स्वतंत्र लेखन।   आषाढ़ और श्रेयसी दोनों एक ही कंपनी में कार्यरत थे। विभाग अलग-अलग थे फिर भी निकट आए। प्यार हुआ और विवाह भी। श्रेयसी को इटली में आयोजित एक सेमिनार में भेजने का कंपनी ने निर्णय लिया। कोविड-19 का शुरुआती समय था। वह ख़ुशी-ख़ुशी गई।...

read more