युवा कवि और शोधार्थी, उत्तर बंग विश्वविद्यालय।

किताब में पाई गई मरी हुई चींटी

किताब में पाई गई
मरी हुई चींटी
एक भी शब्द को ढोकर
नहीं ले जा पाई अपनी बिल में

जबकि उसे ले जाना था
ऐसे तमाम शब्द हमारी भाषाओं से
जो हिंसा के पर्याय हैं।

संवेदना और असंवेदना में उलझा हुआ एक प्रश्न

मेरे हाथों एक जुगनू मारा गया
और लगा कि जैसे
दुनिया से थोड़ी रौशनी कम हो गई है

मेरे हाथों एक चींटी मारी गई
और खबर फैल गई कि
पूरी दुनिया में अनेकता ने एकता पर
एक और जीत दर्ज कर ली

जब एक चिड़िया मारी गई
तो लगा कि जैसे
संगीत सिसक कर दुबक गई हो ध्वनि में

मेरे हाथों एक अंकुरित बीज मारा गया
और मैंने महसूस किया
कि मुझे सांस लेने में दिक्कत हो रही है
जिस तरह
एक जुगनू
एक चींटी
एक चिड़िया
और
एक बीज मारा गया
उस तरह अनजाने में नहीं मारा जाता है इंसान
बल्कि उसे मार दिया जाता है
प्रायोजित तरीकों से

मनुष्यों के मारे जाने पर
क्या कुछ नहीं कमता इस दुनिया से?

भाषा और युद्ध

यह सुनिश्चित किया जाए
कि भाषा के आधार पर
कहीं कोई युद्ध न हो
क्योंकि युद्ध
हर भाषा में
सिर्फ विनाश करता है।

युद्ध और धर्म

युद्ध और धर्म का
बहुत गहरा रिश्ता है
धर्मग्रंथों में लिखा है
युद्ध जरूरी है धर्म की रक्षा के लिए
कितना अर्थहीन लगता है इतिहास
इन बातों से
जब यह समझ में आता है
कि युद्ध के मैदान में
कभी सत्संग नहीं हो सकता
घायलों की चीख से
अजान मुकम्मल नहीं होती
युद्ध के बारूद से लंगर नहीं लगते
जंग के चश्मे से देखने पर
बाइबिल के वचन भी
परमेश्वर से दूर
और युद्ध के बहुत करीब होते हैं

युद्ध से कुछ बचाया नहीं जा सकता
युद्ध किसी न किसी को मिटा देता है
धर्म जिसकी आड़ में युद्ध किया जाता है
वह भी युद्ध में मर जाता है।

हथियारों का सौंदर्यशास्त्र

मैंने बड़ी ही उत्सुकता से
एक बंदूक का नाम गूगल पर सर्च किया
ताकि उसकी तस्वीरें देख सकूं

जबकि मैंने
ऐसे हजारों फूलों की तस्वीरें नहीं देखी हैं
जिनके बारे में कभी सुना करता था
कि वे बहुत खूबसूरत होते हैं।

लाइट हाउस और तुम

तुम लाइट हाउस की तरह खड़ी थी
किनारे पर मेरे इंतजार में
अपनी आंखों में रोशनी लिए
मैं भटकता गया
रात के तूफान में
तुम्हें अनदेखा करके

जो रौशनी की पतली रेखा
तुम्हारी आंखों से निकलकर
मुझ पर पड़ती थी समुद्र के बीचोबीच
धीरे-धीरे सिमट कर
किनारे ठहर गई

जैसे समुद्र को लगातार निहारते हुए
तुम्हारी आंखें
थक कर किनारे झुक गई हों।

प्रेम को वीजा चाहिए

प्रेम
सरहद पार नहीं जा सकता
नफरतें
जाती रही हैं हर बार
प्रेम को वीजा चाहिए
सरहद पार करने के लिए।

संपर्क :शोधार्थी, उत्तर बंग विश्वविद्यालय, सिलीगुड़ी, जिलादार्जिलिंग, पश्चिम बंगाल मो.7908460397