युवा कवि।संप्रति-कटिहार में रेल कर्मचारी।

जब किसी मजदूर का
पुनर्जन्म होता होगा
तो वह निश्चय ही
कुत्ता, बैल, गधा या भेड़ नहीं बनता होगा
बल्कि वह बनता होगा
कठफोड़वा
उसकी चोंच काफी सख्त होती है
मजदूर के हाथ की तरह
दरख्त पर उसकी चोंच के
लगातार प्रहार देखकर
ऐसा लगता है
वह सदियों से गुस्से में है
और फाड़ देना चाहता है
जंगल के हरेक पेड़ को
दरख्त पर उसके गुस्से का कारण
कहीं यह तो नहीं कि
उसी से कुर्सी बनती है।

संपर्क : वरिष्ठ अनुभाग अभियंता का कार्यालय दालकोला रेलवे स्टेशन के बगल में पोस्ट+थानादालकोला , जिलाउत्तर दिनाजपुर ( पश्चिम बंगाल) पिन- 733201 मो.7909062224